भाषा एक ऐसा माध्यम है, जो विभिन्‍न क्षेत्रों, संस्कृतियों तथा भाषाओं से जुड़े व्यक्तियों को निकट लाने के महत् लक्ष्य को पूर्णता प्रदान करता है । भाषिक स्तर पर आदान-प्रदान को तथा अन्य भारतीय/ विदेशी भाषाओं को सीखने-समझने की प्रवृत्ति को बढ़ावा देने में द्विभाषी/ त्रिभाषी/ बहुभाषी कोश सहायक सिद्ध हो सकते हैं । इसी को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय हिंदी निदेशालय द्वारा कोशों का प्रकाशन किया गया है तथा वर्तमान में भी किया जा रहा है ताकि विभिन्नय भाषा-भाषी लोग सभी भारतीय भाषाओं की विपुल शब्द-संपदा से सुपरिचित हो सकें और साथ ही हिंदी को अंतरराष्ट्रीय मंच पर तथा संयुक्त राष्ट्र् की मान्य भाषाओं में भी सम्मिलित करवाए जाने के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके ।

पिछले पृष्ठ पर जाने के लिए |
  • 08-12-2021
    08-12-2021
सूचना